Attitude shayariHindi Shayari

दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में

1 min read

खुदा भी रो पड़े जब हुआ उसने देखा, कैसे मैंने दुश्मन को मेरे आगे जलते हुए पाया।

 

जलते रहो दुश्मन, मेरी मोहब्बत की चिंगारी में, जब तक है जान, हर बार उठेगा मेरा अस्तित्व नयी मंजिलों की तलाश में।

 

दुश्मन की हर खामोशी को बहुत अच्छे से समझता हूँ, मैं उसके दिल की हर धड़कन में अपना असर छोड़ जाता हूँ।

 

जलने दे उन्हें मेरी चमकती राहों से, दुश्मन की हर चाल में मैं हूँ उसकी बाहों में।

 

दुश्मन की नजरों से न डर, मेरे दोस्त, मैं तो उसके हर कदम पर उसकी बर्बादी की राह बिछाता हूँ।

 

जलने दे उन्हें मेरे प्यार की आग में, उसे पता चले कैसे उसने बिना मिट्टी के दिल बनाया था।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर साँस में, मेरे वजूद की जगह ले लेगा उसका हर ख्वाब, हर विचार।

 

जलने दे उन्हें मेरी ताकत से, मेरी मंजिलों से, जब तक मैं हूँ, उसकी हर नींद उसके दुख से भरी रहेगी।

 

दुश्मन की हर नजर में छुपा हूँ मैं उसके हाथों का रक्त, जो उसे मेरे ख़िलाफ़ उतावला बना देता है।

 

जलने दे उन्हें मेरी आँखों की रोशनी से, उसे पता चले कैसे मैंने दुश्मन की धज्जियाँ उड़ाई थीं।

 

दुश्मन के हर ग़म को खुदा की तरह दबा दिया है, मैंने उसके दिल को इतनी गहराई से छुआ है।

 

जलने दे उन्हें मेरी मुस्कान से, मेरे प्यार ने कैसे उनकी खुदाई की थी।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरी ताकत का अहसास करा देगा उसे कि कैसे मैंने उसे हराया था।

 

जलने दे उन्हें मेरी चमकती आँखों से, जब मैं उसकी ओर देखता हूँ, तो उसकी आत्मा भी जल जाती है।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरे प्यार ने कैसे उनकी नींद उड़ा दी थी।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

ALSO READ  50+ stylish 💕 😘 shayari attitude❤ hindi | Attitude shayari

दुश्मन को जलाने वाली शायरी हिंदी में

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

जलने दे उन्हें मेरी आँखों की रोशनी से, मेरी चालें उनके लिए मुश्किल कदम बन जाएंगी।

 

दुश्मन की आँखों में देखकर हंसता हूँ, क्योंकि उन्हें पता चल रहा है, मैं कैसे उनका सामना कर रहा हूँ।

 

जलने दे उन्हें मेरी मुस्कान से, मेरी खुशियों ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

 

जलने दे उन्हें मेरी बातों से, मेरी आवाज़ ने कैसे उनकी रात को उजागर किया था।

 

दुश्मन की हर धड़कन में हूँ मैं उसकी हर आहट में, मेरा वजूद उसके लिए कब्र की राह बन गया है।

 

जलने दे उन्हें मेरे जीने के तरीके से, जब मैं हंसता हूँ, तो उन्हें अपनी हार्डडिस्क में किताबें दिखाई देती हैं।

 

दुश्मन की हर चाल में हूँ मैं उसकी हर दीवार में, मेरे बिना उसकी दुनिया बेहाल हो जाएगी।

rahulsarkar